Temple

छत्तीसगढ़ कोरबा की गंगरिया तालाब,कुठगांव मंदिर, भीमकोट जलप्रपात, पहाड़ी धाम

Spread the love

गंगरिया तालाब

कोरबा छत्तीसगढ़ राज्य का एक प्रमुख नगर है जो महत्वपूर्ण इतिहास और पर्यटन स्थलों के लिए प्रसिद्ध है। इसके अलावा, यह शहर अपने प्राकृतिक सौंदर्य और धार्मिक महत्व के लिए भी प्रसिद्ध है। यहां पर एक ऐसा प्रमुख पर्यटन स्थल है, जिसे “गंगरिया तालाब” के नाम से जाना जाता है।

गंगरिया तालाब छत्तीसगढ़ का एक प्रमुख जलाशय है जो कोरबा नगर से लगभग 15 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह तालाब छत्तीसगढ़ राज्य की प्राकृतिक सुंदरता को दर्शाने का एक महान स्थान है जो पर्यटकों को खींचता है।

गंगरिया तालाब विशाल आकार और आकर्षक प्राकृतिक वातावरण के लिए जाना जाता है। यह तालाब अपनी विस्तृत सतह और पानी की स्पष्टता के लिए प्रसिद्ध है। इसके किनारे घने वन, हरे घास के मैदान और उद्यानों से घिरी हुई हैं, जो इसे आकर्षक बनाते हैं।

गंगरिया तालाब का नाम उस प्राचीन गांव “गंगरिया” के नाम पर रखा गया है, जो इस तालाब के पास स्थित है। इसे स्थानीय निवासियों के बीच “गंगियार झील” के नाम से भी जाना जाता है।

यहां पर्यटक शांतिपूर्ण और प्राकृतिक वातावरण में खो जाते हैं। यह तालाब उच्च वातावरणिक मानकों को पालन करता है और प्रदूषण मुक्त एक प्राकृतिक जलाशय का रूप धारण करता है। यहां का प्राकृतिक जल शुद्ध, स्वादिष्ट और प्राकृतिक खारा होता है, जिसे यात्री अपने आवश्यकतानुसार प्रयोग कर सकते हैं।

गंगरिया तालाब ने भी प्राकृतिक जीवन की अमीर विविधता को अपने जलमगर में संगृहीत किया है। यहां पर कई प्रकार के मछलियाँ, केवल, सरस, बगुला और अन्य पक्षी देखे जा सकते हैं। तालाब के पानी में रहने वाले जलचर जीवों की भी विविधता यहां उपलब्ध है।

गंगरिया तालाब का पर्यटन क्षेत्र अत्यंत मनोहारी और आकर्षक है। इसे स्थानीय और बाहरी पर्यटकों द्वारा खूब पसंद किया जाता है। यह एक पिकनिक स्थल के रूप में भी लोगों के बीच लोकप्रिय है। इसकी चारों ओर घाटियों में सब्जी मंडी, खाद्यान, खेती और पर्यटन से जुड़े कई कार्यक्रम आयोजित होते हैं।

यहां जाने वाले लोग शांति और आत्मरम्भ के लिए इस जलाशय के पास अधिक समय बिताते हैं। यह एक आध्यात्मिक स्थल भी माना जाता है, जहां पर्यटक ध्यान और मनन के लिए जाते हैं। इसके चारों ओर आश्रम, मंदिर और योगाभ्यास केंद्र स्थापित हैं, जहां लोग आत्मा की शांति के लिए ध्यान और मनन करते हैं।

गंगरिया तालाब का दौरा करने के लिए सबसे अच्छा समय सुबह या शाम होता है, जब मौसम सुहावना होता है और प्राकृतिक सौंदर्य पूरी तरह से दिखाई देता है। ज्यादातर लोग इसे वॉकिंग या ट्रेकिंग के दौरान जलाशय के नजदीक आनंद लेने के लिए पसंद करते हैं।

गंगरिया तालाब का यात्रा करके, आप छत्तीसगढ़ राज्य की प्राकृतिक सुंदरता और शांति का आनंद ले सकते हैं।

कुठगांव मंदिर

छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में स्थित कुठगांव मंदिर हिन्दू धर्म के प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक है। यह प्राचीन मंदिर श्री शिव जी को समर्पित है और अपनी आकर्षक वास्तुकला के लिए प्रसिद्ध है। कुठगांव मंदिर मंदिर नगर क्षेत्र के भीतर स्थित है और विश्वास के लिए एक महत्वपूर्ण स्थान माना जाता है।

कुठगांव मंदिर का निर्माण प्राचीन काल में हुआ था और इसे मुख्य धातु के संरचनात्मक निर्माण की खूबसूरती के लिए प्रस्तुत किया गया है। इस मंदिर की संरचना एक गोलाकार गर्भगृह के आसपास घुमती है, जिसे विशेष आकर्षण दिया गया है। शिव मंदिर के मध्य भाग में माँ दुर्गा, माँ काली और लक्ष्मी देवी के मूर्तियां स्थापित हैं, जो इस मंदिर को और भी पवित्र बनाती हैं।

कुठगांव मंदिर का एक और महत्वपूर्ण विशेषता है उसके पास स्थित प्राचीन विश्राम स्थल है। यह विश्राम स्थल मंदिर के आसपास की सुंदर प्राकृतिक वातावरण का आनंद लेने के लिए आतिथ्य करता है। यहां आप पर्यटकों को धार्मिक तत्वों के साथ-साथ साहसिक गतिविधियों का आनंद भी मिलता है। यह आपको नैया यात्राएँ, तैराकी, और पिकनिक करने का अवसर प्रदान करता है।

कुठगांव मंदिर के आसपास के क्षेत्र में विश्राम करते समय आप इस क्षेत्र की स्थलीय संस्कृति और जीवनशैली का अनुभव कर सकते हैं। यहां की जनता अपनी परंपरागत वेशभूषा पहनकर और स्थानीय गीतों के साथ संगीत करके अपने आपको प्रकट करती है।

भीमकोट जलप्रपात

छत्तीसगढ़ राज्य के कोरबा जिले में स्थित भीमकोट जलप्रपात एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह जलप्रपात कोरबा जिले की प्रमुख प्राकृतिक खूबसूरती में से एक है और पर्यटकों के बीच अत्यंत प्रसिद्ध है।

भीमकोट जलप्रपात स्थानीय लोगों के बीच पिकनिक स्थल के रूप में बहुत प्रसिद्ध है। यह जलप्रपात छत्तीसगढ़ राज्य की प्राकृतिक खूबसूरती को परिभाषित करने वाला है और यहां आने वाले पर्यटक इसका आनंद लेते हैं। यह जलप्रपात कई झरनों के मिलन से बना हुआ है, जिससे यहां का पानी बहुतायत में बहता है।

भीमकोट जलप्रपात की विशेषता उसकी ऊँचाई और भारी धाराओं में है। यहां का जलप्रपात अपनी विस्मयकारी दृश्यकला के लिए प्रसिद्ध है और यहां की धाराएं देखने वालों को अद्भुत अनुभव प्रदान करती हैं। जब यहां की धाराएं बहती हैं, तो उनकी गूँज से पर्यटकों का मन भर जाता है और वे इस प्राकृतिक खेल का आनंद लेते हैं।

भीमकोट जलप्रपात एक प्रमुख पिकनिक स्थल के रूप में भी प्रसिद्ध है। यहां आने वाले पर्यटक यहां के पानी में नहाने, तैराकी करने और आसपास के शानदार पर्यावरण का आनंद लेते हैं। यहां अच्छी सुविधाएं और पिकनिक ग्राउंड उपलब्ध हैं, जहां पर्यटक अपने परिवार और दोस्तों के साथ अच्छे समय बिता सकते हैं।

भीमकोट जलप्रपात का दौरा करने के लिए सबसे अच्छा समय मौसम के हिसाब से निर्धारित किया जा सकता है। यहां जाने वाले पर्यटकों को सलाह दी जाती है कि वे बरसाती मौसम या बहुत गर्मी के दिनों में यहां न जाएं, क्योंकि इससे उनकी सुरक्षा पर असर पड़ सकता है।

भीमकोट जलप्रपात का यात्रा करके, आप छत्तीसगढ़ की प्राकृतिक सुंदरता का आनंद ले सकते हैं। यहां के जलप्रपात, पहाड़ों, और पर्यावरण की सुंदरता आपको मनोहारी अनुभव प्रदान करेगी। यहां आने से आपको शांति और सुकून का आनंद मिलेगा .

पहाड़ी धाम

छत्तीसगढ़ राज्य कोरबा जिला, भारत में स्थित है और यह एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। कोरबा जिला पहाड़ी धाम की खूबसूरत पहाड़ियों और शांतिपूर्ण वातावरण के लिए प्रसिद्ध है। यहां की प्राकृतिक सौंदर्य और धार्मिक महत्व के कारण यह स्थान तीर्थ यात्रियों के लिए लोकप्रिय है।

कोरबा की पहाड़ी धाम में कई प्रमुख धार्मिक स्थल हैं। यहां परंपरागत तरीके से पूजा और अर्चना की जाती है और यहां के मंदिरों में विश्राम और आध्यात्मिकता का अद्वितीय वातावरण है। इन मंदिरों में यात्रियों को आनंद और आत्मशांति की अनुभूति होती है।

कोरबा का प्रमुख धार्मिक स्थल है भागवती मंदिर। यह मंदिर छत्तीसगढ़ राज्य के भक्तों के बीच बहुत मशहूर है। यहां मां भागवती की पूजा की जाती है और यहां के तीर्थ यात्रियों को आनंददायक और आत्मशांति भरा अनुभव प्रदान करते हैं। भागवती मंदिर में स्थित सामरिक मुख्यालय अपने आप में एक महत्वपूर्ण स्थान है और यहां तीर्थ यात्रियों को एक आदर्श स्थल प्रदान करता है जहां वे शांति और मानसिक समृद्धि की खोज कर सकते हैं।

कोरबा जिले में एक और महत्वपूर्ण धार्मिक स्थल है शिव जी का मंदिर। यहां परंपरागत रूप से शिव जी की पूजा की जाती है और यह मंदिर यात्रियों को आत्मीयता और आध्यात्मिक विकास का महान अनुभव प्रदान करता है। शिव जी का मंदिर धार्मिक तथा सामरिक क्रियाएँ आयोजित करने के लिए एक मुख्य स्थान है और यहां पर्यटकों को एक अनोखा धार्मिक अनुभव प्रदान करता है।

कोरबा जिला की पहाड़ी धाम में एक और प्रमुख स्थल है जंगलदेवता मंदिर। यहां लोग प्राकृतिक सौंदर्य के साथ-साथ अपने मानसिक और आध्यात्मिक विकास के लिए आते हैं। जंगलदेवता मंदिर एक स्थानीय धार्मिक स्थल है जहां स्थानीय लोग पूजा और आराधना करते हैं और इसे धार्मिक महत्व के साथ मान्यता दी जाती है

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button